Top 5 This Week

Related Posts

दर्द का तेल कैसे बनाएं: आयुर्वेदिक दर्द निवारक तेल, How to Make Homemade Pain Relief Oil

दर्द का तेल कैसे बनाएं: आयुर्वेदिक दर्द निवारक तेल

आयुर्वेद में Pain Relief Oil का उपयोग सदियों से किया जाता रहा है। ये तेल विभिन्न प्रकार के दर्द से राहत देने में मदद करते हैं, जैसे कि:

  • जोड़ों का दर्द
  • मांसपेशियों का दर्द
  • कमर दर्द
  • घुटने का दर्द
  • सिरदर्द

आयुर्वेदिक दर्द निवारक तेल बनाने के लिए कई तरह की जड़ी-बूटियों का उपयोग किया जा सकता है। कुछ लोकप्रिय जड़ी-बूटियों में शामिल हैं:

  • अश्वगंधा
  • साल
  • अरंडी
  • मेथी
  • लहसुन
  • अदरक

यहां कुछ सरल तरीके दिए गए हैं जिनसे आप घर पर दर्द का तेल बना सकते हैं:

Homemade pain relief oil

अश्वगंधा तेल: Pain Relief Oil

  • 100 ग्राम अश्वगंधा की जड़ को पीसकर पाउडर बना लें।
  • 250 मिली तिल का तेल गरम करें।
  • तेल में अश्वगंधा पाउडर डालकर धीमी आंच पर 10 मिनट तक पकाएं।
  • तेल को ठंडा होने दें और फिर छान लें।

साल तेल: Pain Relief Oil

  • 100 ग्राम साल के पत्तों को पीसकर पाउडर बना लें।
  • 250 मिली सरसों का तेल गरम करें।
  • तेल में साल पाउडर डालकर धीमी आंच पर 10 मिनट तक पकाएं।
  • तेल को ठंडा होने दें और फिर छान लें।

अरंडी तेल: Pain Relief Oil

  • 100 मिली अरंडी का तेल गरम करें।
  • तेल में 10 ग्राम कपूर और 10 ग्राम लौंग डालकर धीमी आंच पर 5 मिनट तक पकाएं।
  • तेल को ठंडा होने दें और फिर छान लें।

मेथी तेल: Pain Relief Oil

  • 100 ग्राम मेथी के दानों को पीसकर पाउडर बना लें।
  • 250 मिली नारियल का तेल गरम करें।
  • तेल में मेथी पाउडर डालकर धीमी आंच पर 10 मिनट तक पकाएं।
  • तेल को ठंडा होने दें और फिर छान लें।
Homemade pain relief oil

लहसुन और अदरक तेल: Pain Relief Oil

  • 100 ग्राम लहसुन की कलियों को पीसकर पेस्ट बना लें।
  • 100 ग्राम अदरक को पीसकर पेस्ट बना लें।
  • 250 मिली जैतून का तेल गरम करें।
  • तेल में लहसुन और अदरक का पेस्ट डालकर धीमी आंच पर 10 मिनट तक पकाएं।
  • तेल को ठंडा होने दें और फिर छान लें।

इन तेलों का उपयोग कैसे करें:

  • दर्द वाले स्थान पर तेल की कुछ बूंदें लगाएं और धीरे से मालिश करें।
  • आप इन तेलों को दिन में दो बार लगा सकते हैं।

ध्यान दें:

  • यदि आपको कोई एलर्जी है, तो इन तेलों का उपयोग करने से पहले अपने डॉक्टर से बात करें।
  • गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को इन तेलों का उपयोग करने से पहले अपने डॉक्टर से बात करनी चाहिए।

इन तेलों के अलावा, आप दर्द से राहत पाने के लिए कुछ अन्य घरेलू उपचार भी कर सकते हैं, जैसे कि:

  • हल्दी का पेस्ट: हल्दी में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो दर्द और सूजन को कम करने में मदद करते हैं।
  • एलोवेरा जेल: एलोवेरा जेल में एंटी-इंफ्लेमेटरी और एनाल्जेसिक गुण होते हैं जो दर्द और सूजन को कम करने में मदद करते हैं

Read This अंगूर के फायदे, अंगूर में कौन से विटामिन होते हैं? Grapes Benefits in Hindi

Siya
Siyahttp://hindistall.com
Hello My Name Is Siya. Words are my weapons, stories my battleground, and truth my ultimate conquest. For the past 8 years, I've been navigating the vibrant tapestry of online news, weaving it into narratives that inform, challenge, and spark conversation.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Popular Articles